• April 14, 2024

अगर आप भी नोएडा में मकान किराए पर लेने का मन बना रहे हैं तो हो जाए सावधान

 अगर आप भी नोएडा में मकान किराए पर लेने का मन बना रहे हैं तो हो जाए सावधान

*अगर आप भी नोएडा में मकान किराए पर लेने का मन बना रहे हैं तो हो जाए सावधान*

(संवाददाता योगेश राणा)

नोएडा:आप ने अभी तक ठगी करने के नए-नए तरीके देखे होंगे और सूने होंगे जहां ठग ने लोगों को ठगने के लिए बीमा पॉलिसी व वाहन पॉलिसी बेचने वाले के बारे में सुना होगा मगर नोएडा में अनोखा ही मामला सामने आया है यहां ठग गैंग बनाकर प्रॉपर्टी सेल परचेस कर दिया करते थे। आप को सरल भाषा में समझने के लिए कहीं ज्यादा दूर जाने की आवश्यकता नहीं है केवल एक अभिनेता की पिक्चर कुली नंबर वन याद हो जिसमें अभिनेता एक डायलॉग कहते हैं कि यह जो दूर तक दिखाई दे रही जमीन सभी मेरी है मगर वास्तव में एक वे कुली होता है ठीक कुछ उसी प्रकार से नोएडा में भी चार लोगे गैंग बनाकर लोगों से ठगी कर रहे थे यह लोग लोगों को फंसाने के लिए ऑनलाइन वेबसाइट का इस्तेमाल किया करते थे जिनका नाम कुछ इस प्रकार है 99acress.com व magicbricks.com व housing.com आदि पर फ्लैट/ कमर्शियल प्रॉपर्टी आदि के फर्जी मालिक बनकर उस प्रॉपर्टी को रेंट पर देने के लिए अपना ऐड एक मोबाइल नंबर के साथ डालते थे जब कोई व्यक्ति फ्लैट/ कमर्शियल प्रॉपर्टी को चेक करता है तो ठग के मोबाइल नंबर पर उन कस्टमर का मोबाइल नंबर विद नेम मैसेज आता है जिसके बाद चार ठगों में से एक अमितेश मिश्रा प्रॉपर्टी की लोकेशन व किराया संबंधी बात करता है तथा कस्टमर से फ्लैट /कमर्शियल प्रॉपर्टीज को विजिट करने का समय निर्धारित करता है और समय निर्धारित होने के बाद पुष्पेंद्र उसका दूसरा साथी फ्लैट/ कमर्शियल प्रॉपर्टीज विजिट कराता है तथा इनका तीसरा साथी मौके पर ही फर्जी मालिक अनिल चौहान से फोन पर बात कर आता है बात कराने के बाद कस्टमर से टोकन मनी के रूप में ठग का चौथे साथी मृत्युंजय चौबे के बैंक अकाउंट में ₹2000 ट्रांसफर कराए जाते हैं और फिर दोबारा समय निर्धारित किया जाता है और ठगों द्वारा एक फर्जी एग्रीमेंट बनाकर कस्टमर के हस्ताक्षर कराए जाते हैं तथा कस्टमर से उसी एग्रीमेंट की मूल प्रति ना देकर छाया प्रति दी जाती तथा कस्टमर से 3 या 6 महीने आदि का एडवांस ट्रांसफर कर लिया जाता है तत्पश्चात अभियुक्त द्वारा उस अकाउंट से पैसा निकाल कर आपस में बांट लिया करते थे जहां थाना 39 को 12/01/2023 को अब तक ऐसी कुल 9 व्यक्तियों से शिकायत प्राप्त हो चुकी थी जिसमें अब षड्यंत्र का शिकार बनाए गए लोगों से ₹700000 से अधिक धनराशि लिए जाना सामने आया जहां थाना 39 की पुलिस ने सहायक पुलिस आयुक्त प्रथम के नेतृत्व में इन सभी ठगों को गिरफ्तार कर लिया है और इन लोगों के कब्जे से पुलिस को एक एटीएम कार्ड , 7 फर्जी आधार कार्ड, एक पासबुक एवं ₹20000 नगद बरामद किए हैं।

वहीं नोएडा पुलिस के अपर पुलिस उपायुक्त आशुतोष द्विवेदी ने बताया कि यह लोग शातिर ठग है और भोले वाले लोगों को मकान एवं कमर्शियल दूकान किराए पर देने के नाम पर ठगी करने का कार्य करते थे जहां पुलिस ने इन्हें गिरफ्तार करते हुए इनका मेडिकल परीक्षण करा रही और मेडिकल परीक्षण उपरांत न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत करेगी

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.