• July 13, 2024

अवैध गेस्ट हाउसों / ओयो पर कार्रवाई के लिए नोएडा पुलिस ने किया खाका तैयार!

 अवैध गेस्ट हाउसों / ओयो पर कार्रवाई के लिए नोएडा पुलिस ने किया खाका तैयार!

नोएडा

अवैध गेस्ट हाउसों / ओयो पर कार्रवाई के लिए नोएडा पुलिस ने किया खाका तैयार!

रिपोर्ट :- योगेश राणा

नोएडा: सेक्टरों / कालोनियों में अवैध रूप से चल रहे गेस्ट हाउसों / ओयो पर कड़ी कार्रवाई करने के लिए, अनैतिक कार्यों को रोकने, सामाजिक जागरूकता बढ़ाने के लिए गौतमबुद्धनगर की पुलिस आयुक्त लक्ष्मी सिंह ने एक नई पहल की शुरुआत की है। इस मुहिम के अनुसार शहर के कई सेक्टरों व कालोनियों में अवैध गेस्ट हाउस चल रहे है जिन से स्थानीय लोगों को परेशानियों को सामना करना पड़ रहा है, इन होटलों / ओयो में दिन-रात बाहरी व्यक्तियों का आना-जाना लगा रहता है, साथ ही साथ सेक्टर वासीयों ने आरोप लगाया है कि इन गेस्ट हाउस में खुलेआम देह व्यापार का धंधा संचालित होता है और लोगों को खुलेआम शराब भी परोसी जाती है और इस कारण सेक्टरों/ सोसाइटियों का माहौल खराब हो रहा है, इसी समस्या से शहर वासियों को निदान दिलाने के लिए गौतमबुद्धनगर पुलिस ने वरिष्ठ अधिकारियों व ओयो होटल्स के पदाधिकारियों के मध्य एक सेमिनार का आयोजन किया गया। जिसमें डीसीपी नोएडा हरीश चन्दर द्वारा सेमिनार में उपस्थित सभी लोगों को सम्बोधित करते हुए अनैतिक कार्यों के अलग-अलग रूप और समाज पर पड़ने वाले प्रभावों के प्रति होटल ऑपरेटरों को सचेत किया। उन्होंने ये भी बताया कि होटल ऑपरेटर किसी भी प्रकार की संदिग्ध गतिविधि को कैसे पहचाने और पुलिस को सूचित करें। उन्होंने ये भी आश्वासन दिया कि पुलिस इस मुहिम में होटल इंडस्ट्री के साथ है कंधे से कंधा मिलाकर चलने को तैयार क्योंकि नोएडा को सभी के लिए एक सुरक्षित शहर बनाने के लिए तैयार है। ओयो उन सभी छात्रों के लिए भी एक अच्छा प्लेटफॉर्म है जो दूसरे शहरों में परीक्षा देने के लिए जाते हैं, लेकिन कई ऐसे होटल भी हैं जो ओयो ब्रांड का इस्तेमाल गैर कानूनी ढंग से कर रहे हैं। ऐसे होटलों के खिलाफ एक विशेष अभियान चलाकर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। एसीपी प्रथम नोएडा रजनीश वर्मा द्वारा बताया कि नोएडा में अनैतिक कार्यों को रोकने के लिए हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री की भूमिका महत्वपूर्ण है और ओयो के साथ की गयी साझेदारी पूर्व से जारी प्रयासों को भी मजबूती देगी।

*अवैध होटल इंडस्ट्री से सरकार के राजस्व को लग रहा है चूना*

अवैध गेस्ट हाउस से सरकार सहित होटल इंडस्ट्री को हो रहा है लाखों रुपए के राजस्व का नुकसान आपको बता दें अवैध रूप से चल रहे गेस्ट हाउसों ने बड़ी कंपनियों से भी टाइअप कर रखा है जिसका खामिया जा मान्यता प्राप्त होटल के मालिकों को भुगतना पड़ रहा है वहीं इस बात को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी चिंता जाता चुके हैं कि होटल इंडस्ट्री में बड़े स्तर पर राजस्व चोरी का कार्य चल रहा है जिस पर अंकुश लगाया जाना अति आवश्यक है और इसी के साथ अधिकारियों को आदेश दिया था कि यह सुनिश्चित करें कि सरकार के राजस्व की चोरी ना हो।

*अवैध होटल इंडस्ट्री ने ताक पर रखें सारे नियम*

ताक पर नियम, अगर हम सरकारी आंकड़ों की बात करें तो गौतमबुद्धनगर जिला में केवल 27 होटल/ गेस्ट हाउस/ ओयो सराय एक्ट में पंजीकृत हैं, बड़ा सवाल उठता है कि पूरे शहर में इतना बड़ा नेटवर्क विकसित हो गया और अथॉरिटी-जिला प्रशासन इससे बेखबर कैसे रहा?,सूत्रों की मानें तो इन गेस्ट हाउसों के मालिक सरकारी ओहदों पर बैठे बड़े अफसर हैं या फिर नेताओं का इनमें पैसा लगा हुआ है। इस वजह से प्रशासन व पुलिस इन पर हाथ नहीं डालती है।

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.