• April 21, 2024

इन राज्यों में द केरल स्टोरी पर लगाया जा चुका प्रतिबंध, कौन-कौन राज्य कर रहे तैयारी?

 इन राज्यों में द केरल स्टोरी पर लगाया जा चुका प्रतिबंध, कौन-कौन राज्य कर रहे तैयारी?

5 मई को रिलीज होने के बाद से द केरल स्टोरी फिल्म विवादों से घिरी हुई है। भले ही कई राज्यों में फिल्म को टैक्स फ्री करने की मांग हो रही है, लेकिन कुछ राज्य ऐसे भी हैं, जहां इस फिल्म पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। वहीं, कई राज्यों में द केरल स्टोरी पर बैन लगाने की मांग हो रही है। आइए इस रिपोर्ट में जानते हैं कि किन-किन राज्यों में द केरल स्टोरी को देखना अब मुश्किल है।

पश्चिम बंगाल में लगाया गया बैन
बता दें कि पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार ने सोमवार (8 मई) को द केरल स्टोरी फिल्म पर बैन लगा दिया। इसका मतलब यह है कि इस फिल्म को अब पश्चिम बंगाल के किसी भी थिएटर में नहीं दिखाया जा सकेगा। इस मामले में ममता बनर्जी का कहना है कि फिल्म ‘द केरल स्टोरी’ पर यह फैसला उन्होंने नफरत और हिंसा की किसी भी घटना से बचने और राज्य में शांति बनाए रखने के लिए लिया है।

तमिलनाडु में भी रोकी गई स्क्रीनिंग
गौरतलब है कि द केरल स्टोरी फिल्म पर तमिलनाडु सरकार भी सख्त कदम उठा चुकी है। तमिलनाडु सरकार ने भी फिल्म पर बैन लगाया था। इससे पहले तमिलनाडु में मल्टीप्लेक्स संगठनों ने भी रविवार (7 मई) से फिल्म की स्क्रीनिंग रोकने का एलान किया था। उनका कहना था कि इस फिल्म की वजह से राज्य की सुरक्षा व्यवस्था खतरे में पड़ सकती है। बता दें कि तमिलनाडु में द केरल स्टोरी फिल्म को खास रिस्पॉन्स नहीं मिला है।

केरल में भी हो रही बैन लगाने की मांग
गौर करने वाली बात यह है कि द केरल स्टोरी फिल्म में केरल राज्य के हालात के बारे में बताया गया है। साथ ही, दावा किया जा रहा है कि यह फिल्म सच्ची घटनाओं पर आधारित है। इसके चलते केरल में भी इस फिल्म पर बैन लगाने की मांग हो रही है। केरल की राजनीतिक पार्टियां लगातार इस फिल्म पर प्रतिबंध लगाने की मांग कर रही हैं। उनका कहना है कि फिल्म में एक समुदाय विशेष के खिलाफ आपत्तिजनक चीजें दिखाई गई हैं।

झारखंड में कही गई यह बात
द केरल स्टोरी को लेकर झारखंड में भी सत्ता पक्ष और विपक्ष आमने-सामने है। कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी ने फिल्म पर विरोध जताया। उन्होंने कहा कि जो हत्यारे हैं, जो समाज से नकारे हुए लोग हैं, वही केरल स्टोरी मूवी देखने जाएंगे। मोहब्बत करने वाले कभी यह मूवी नहीं देखेंगे। अगर बाबूलाल मरांडी हिंसा वाला सिनेमा दिखाकर सरकार बना लेंगे तो उन्हें बहुत मुबारक, लेकिन हेमंत सोरेन के निर्देश पर हम मेहनत कर रहे हैं और दिल भी जीतेंगे। इरफान अंसारी धमकी दे चुके हैं कि झारखंड में इस फिल्म को नहीं लगने देंगे।अगर फिल्म सिनेमाघरों में चली तो तोड़फोड़ कर देंगे। उधर, बीजेपी सांसद संजय सेठ ने सीएम हेमंत सोरेन को पत्र लिखकर फिल्म को टैक्स फ्री करने की मांग की है।

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.