• April 21, 2024

केजरीवाल के बंगले में लगे फर्नीचर से लेकर क्रॉकरी तक मैंने खरीदा, 28 लाख के तो तकिए

 केजरीवाल के बंगले में लगे फर्नीचर से लेकर क्रॉकरी तक मैंने खरीदा, 28 लाख के तो तकिए

मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में मंडोली जेल में बंद महाठग सुकेश चंद्रशेखर ने एक बार फिर जेल से उपराज्यपाल वीके सक्सेना को चिट्ठी लिखकर दावा किया है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बंगले के फर्नीचर से लेकर क्रॉकरी तक के लिए पैसे उसने दिए हैं। सुकेश ने उपराज्यपाल से केजरीवाल के आवास के निर्माण पर हुए खर्च की जांच कराने की मांग की है, ताकि सच सामने आ सके। मुख्यमंत्री के बंगले के पुनर्निर्माण को लेकर चल रहे चर्चे के बीच सुकेश की चिट्ठी ने विवाद को हवा दे दी है।

सुकेश चंद्रशेखर ने दावा किया है कि केजरीवाल के आवास में जो फर्नीचर लगा है, वह सत्येंद्र जैन और केजरीवाल ने खुद चुना था। उसने चिट्ठी में लिखा है कि उनके फोटो को व्हाट्सएप और फेस टाइम चैट के जरिये मुख्यमंत्री और जैन के मोबाइल पर भेजा था। अपनी चिट्ठी में उसने कई फर्नीचर खरीदने का दावा किया। इसका उसने ब्योरा भी दिया है।

उसने लिखा है कि विजनायर 12 सीटर डाइनिंग टेबल कीमत 45 लाख रुपये का है, जिसका रंग ऑलिव ग्रीन है। विजनायर ड्रेसिंग टेबल केजरीवाल और उनके बच्चों के रूम के लिए है जिसकी कीमत 34 लाख रुपये है। विजनायर के 7 आईने कीमत 18 लाख, रग्स, बेडस्प्रेड्स और तकिये कुल 30 पीस जो राल्फ लॉरेन के हैं, इसकी कीमत 28 लाख है। पामराई की तीन दीवार घड़ियां 45 लाख की हैं।

व्हाट्सएप चैट उपलब्ध करवाने का किया दावा
सुकेश ने अपनी चिट्ठी में दावा किया है कि उसने जो फर्नीचर बताए हैं, सब उसने खुद मुंबई और दिल्ली से खरीदे हैं क्योंकि ये सब इटली और फ्रांस से आयात हुए थे। सभी पेमेंट मेरी फर्म न्यू एक्सप्रेस पोस्ट एंड एलएस फिशरीज की ओर से की गई है। उसने दावा किया कि इन सब का रिकॉर्ड जांच एजेंसी को दे सकता हूं। साथ ही उनसे केजरीवाल और सिसोदिया के साथ हुई व्हाट्सएप चैट को उपलब्ध कराने का दावा किया है।

चिट्ठी में उसने लिखा है कि सारा फर्नीचर सीधे केजरीवाल के दफ्तर भेजा गया था, जहां से उसके कर्मचारी रिषभ शेट्टी ने उसे मुख्यमंत्री के आवास पर लगाया था। सुकेश ने लिखा है कि सत्येंद्र जैन उसके चेन्नई स्थित घर गए थे, जहां उन्होंने फोटो खींची थी और उसे केजरीवाल को दिखाई थी, जिसके बाद से केजरीवाल उस पर वैसे ही हाइएंड फर्नीचर खरीदने का दबाव बना रहे थे। उसने दावा किया कि एक साउथ इंडियन ज्वेलर से केजरीवाल ने 90 लाख की चांदी की क्रॉकरी मंगाई थी। इसके बदले उसे करोल बाग प्रोजेक्ट में अलॉटमेंट दिया था। सुकेश ने उपराज्यपाल से केजरीवाल के आवास के निर्माण पर हुए खर्च की जांच कराने की मांग की है, ताकि सच सामने आ सके।

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.