• April 21, 2024

चर्चित यूट्यूबर एलविश यादव की जिंदगी में सर्पविष‌ बना सर्प कालदोष! मुश्किलें नहीं ले रही थमने का नाम..

 चर्चित यूट्यूबर एलविश यादव की जिंदगी में सर्पविष‌ बना सर्प कालदोष! मुश्किलें नहीं ले रही थमने का नाम..

नोएडा

चर्चित यूट्यूबर एलविश यादव की जिंदगी में सर्पविष‌ बना सर्प कालदोष! मुश्किलें नहीं ले रही थमने का नाम..

रिपोर्ट :- योगेश राणा

 

सर्पविष: चर्चित यूट्यूबर एलविश यादव की मुश्किलें थमने का नाम नहीं ले रही है।‌ एक कहावत है कि हर व्यक्ति कामयाबी को नहीं बचा पाता है ठीक वही एल्विस के साथ हो रहा है।

आपको मालूम होगा कि पिछले वर्ष 3 नवंबर को एल्विश यादव सहित पांच अन्य पर नोएडा में मुकदमा दर्ज हुआ था और आरोप थे कि रेव पार्टियों में सांपों के जहर की सप्लाई करने का काम सिद्धार्थ उर्फ एलविश यादव एवं उनकी टीम कर रही थी और इस मामले में कोतवाली 49 में वन्यजीव संरक्षण अधिनियम (डब्ल्यूपीए) और भारतीय दंड संहिता की धारा 120 बी (आपराधिक साजिश) के तहत मामला दर्ज किया गया था उसके बाद से ही नोएडा पुलिस इस पूरे मामले की छानबीन कर रही थी और एक छानबीन को और तेज करने के लिए अपने तेज तर्रार अधिकारी और उनकी टीम को इस काम में लगा दिया था पुलिस ने भी इस पूरे मामले में हर कदम फूंक फूंक के रखा है आप इस बात का अंदाजा इस बात से लगा सकते हैं कि जब तक एफएसएल की रिपोर्ट पुलिस को प्राप्त नहीं हुई तब तक पुलिस ने किसी भी व्यक्ति की कोई गिरफ्तारी नहीं की मगर जैसे ही इस बात की पुष्टि रिपोर्ट में हुई की कोबरा,करैत प्रजातियों के सांपों के जहर का इस्तेमाल रेव पार्टियों में हो रहा था उसके बाद से ही नोएडा पुलिस ने एलविश को गिरफ्तार करने के लिए अपना जाल बिछाना शुरू कर दिया था और पुलिस को इस बात का भी अंदाजा था कि पिछली बार जब पुलिस ने एलविश यादव को पूछताछ के लिए बुलाया था तो एलविश यादव अपने पूरे के पूरे लाव लश्कर के साथ नोएडा आया था और यह बात नोएडा पुलिस के अधिकारियों के दिमाग में यह बात पहले से ही चल रही थी कि इसलिए नोएडा पुलिस ने सबसे पहले एलविश को अपने भरोसे में लिया और पूछताछ के लिए नोएडा के निजी फार्म हाउस पर बुलाया जो कि उनके एक दोस्त का था और नोएडा पुलिस के कुछ अधिकारी उस फार्म हाउस पर पहुंचे और एल्विस से पूछताछ की पूछताछ में एल्विस मुख्य बातों का जवाब न देकर के इधर-उधर की बात करके सवालों को टालने का प्रयास कर रहा था मगर पुलिस एल्विस की बातों से संतुष्ट नजर नहीं आई तो पुलिस ने एल्विस को पहले अपने विश्वास में लिया कि हमें आपसे साधारण सी पूछताछ करनी है इसके लिए आपको हमारे साथ थाने चलना पड़ेगा शुरू में तो एलविश एवं एलविश के लोगों ने विरोध किया मगर पुलिस ने सबको समझा बूझकर शांत कर दिया और यह कहकर एलविश को वहां से निकाल लिया कि साधारण सी पूछताछ एवं एक दस्तावेज पर हस्ताक्षर कराने हैं फिर क्या पुलिस अपने खेल में सफल हो गई और एल्विस का मेडिकल करा करके पुलिस ने गुपचुप तरीके से एल्विस को कोर्ट में पेश भी कर दिया जब तक इसकी खबर मीडिया को लगती तब तक पुलिस ने एलविश यादव को कोर्ट के सामने पेश भी कर दिया और न्यायालय ने भी एल्विस को 14 दिन के न्याय हिरासत में लुक्सर जेल भेज दिया और इस पूरे मामले की गुत्थी सुलझाने के लिए नोएडा पुलिस लगातार तत्परता से कार्रवाई कर रही है इस क्रम में पुलिस ने मंगलवार को एलविश यादव के दो साथियों को गिरफ्तार किया है और उनसे पूछताछ की है सूत्रों की माने तो इसमें कुछ और बड़े खुलासे होंगे और कुछ और बड़े नाम भी सामने आ सकते हैं।‌

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.