• June 15, 2024

दिल्ली-पानीपत महिला स्पेशल ट्रेन आठ मई से चलेगी, कामकाजी महिलाओं की आसान होगी राह

 दिल्ली-पानीपत महिला स्पेशल ट्रेन आठ मई से चलेगी, कामकाजी महिलाओं की आसान होगी राह

दिल्ली-पानीपत के बीच चलने वाली महिला स्पेशल ट्रेन को बहाल करने का रेलवे ने निर्णय लिया है। इस ट्रेन के चलने से कामकाजी महिलाओं की राह आसान हो जाएगी। रेलवे ने ट्रेन संख्या 04963/04964 नई दिल्ली–पानीपत-नई दिल्ली महिला स्पेशल आठ मई से बहाल करने का फैसला किया है।

इसके साथ ही ट्रेन संख्या 22453/22454 लखनऊ जंक्शन- मेरठ सिटी-लखनऊ जंक्शन के बीच भी चलने वाली राज्य रानी एक्सप्रेस की सेवा बहाल करने का निर्णय रेलवे ने लिया है। यात्रियों की सुविधा के लिए इस ट्रेन को तत्काल प्रभाव से बहाल किया गया है।

रेलवे ने माता वैष्णो देवी दर्शन करने वाले लोगों के लिए भी स्पेशल ट्रेन चलाने का निर्णय लिया है। ट्रेन संख्या 04073/04074 नई दिल्ली-श्री माता वैष्णो देवी कटड़ा–नई दिल्ली सुपरफास्ट स्पेशल एक्सप्रेस कुल चार फेरे लगाएगी। नई दिल्ली से ट्रेन संख्या 04073 कटड़ा के लिए 4 व 6 मई को चलेगी। वापसी में यह ट्रेन वैष्णव देवी कटड़ा  5 व 7 मई को नई दिल्ली के लिए चलेगी। इसके अतिरिक्त इसी रूट पर एक और स्पेशल ट्रेन चलाई जाएगी।

ट्रेन संख्या 04075  नई दिल्ली से कटड़ा के लिए 5 मई को चलेगी तो वापसी दिशा में ट्रेन संख्या 04076 श्री माता वैष्णो देवी कटड़ा से नई दिल्ली के लिए आठ मई को चलेगी। मार्ग में यह ट्रेन सोनीपत, पानीपत, करनाल, कुरुक्षेत्र, अंबाला कैंट, लुधियाना, जालंधर कैंट, पठानकोट कैंट, जम्मू तवी, उधमपुर स्टेशन पर दोनों दिशाओं में रुकेगी।

समीक्षा बैठक में ट्रेनों की लेटलतीफी पर जताई चिंता  
ट्रेनों की लेटलतीफी पर रेलवे ने चिंता जताई है। खासकर स्टेशन के आउटर और क्रू चेंजिंग प्वाइंट पर ट्रेनों को ज्यादा देर रुके रहने का समाधान ढूंढ़ा जाए ताकि ट्रेनों की समय पर आवाजाही में सुधार किया जा सके। इस बाबत उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक शोभन चौधरी ने सभी विभागाध्यक्षों और मंडल रेल प्रबंधकों को समय पालन बनाए रखने और संरक्षा को प्राथमिकता देते हुए मालभाड़ा लदान की रफ्तार बढ़ाने को कहा है। उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक ने मंगलवार को बड़ौदा हाउस में समीक्षा बैठक की। जहां रेलपथ पर संरक्षा, गति सीमा बढ़ाने, रेल परिचालन, बिजनेस डेवलपमेंट यूनिटों और मालभाड़ा लदान जैसे विषयों पर चर्चा की गई। बैठक में आपदा प्रबंधन योजना पर खास चर्चा की गई। महाप्रबंधक ने रेलपथों, रेल फाटकों के मानकों को बेहतर बनाने और हाई-स्पीड रेल सेक्शनों में रेल पटरियों के साथ-साथ चारदीवारी बनाने पर जोर दिया। संरक्षा सुनिश्चित करने के लिए रेल पथों के निकट अतिक्रमण को हटाने के प्रयास का परामर्श दिया अधिकारियों को दिया।

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.