• May 22, 2024

शरद पवार ने वापस लिया इस्तीफा, NCP अध्यक्ष बने रहेंगे; अजित की गैरहाजिरी पर उठे सवाल

 शरद पवार ने वापस लिया इस्तीफा, NCP अध्यक्ष बने रहेंगे; अजित की गैरहाजिरी पर उठे सवाल

शरद पवार ने एनसीपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से अपना इस्तीफा वापस ले लिया है। उन्होंने एक प्रेस कांफ्रेंस में इसकी घोषणा की। एनसीपी सुप्रीमो ने कहा कि ‘मैं अपना फैसला वापस ले रहा हूं।’ प्रेस कांफ्रेस करते हुए शरद पवार ने कहा कि मैं आपकी भावनाओं का अपमान नहीं कर सकता। मैं इस्तीफा वापस लेने की आपकी मांग का सम्मान कर रहा हूं। मैं राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से इस्तीफे का अपना फैसला वापस लेता हूं। बता दें कि इस दौरान अजित पवार मौजूद नहीं थे। इस पर जब  राकांपा प्रमुख शरद पवार से जब सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि यहां अन्य सभी हैं। कमेटी ने यह फैसला लिया और उनके फैसले के बाद मैंने अपना फैसला वापस ले लिया। हम सभी एकजुट हैं।  समिति में वरिष्ठ नेता हैं और इस पर चर्चा कर रहे हैं।

अजित ने किया शरद पवार के फैसले का स्वागत  
शरद पवार के इस फैसले का उनके भतीजे और राकांपा नेता अजित पवार ने स्वागत किया। उन्होंने एक बयान में कहा कि उनके चाचा के सकारात्मक निर्णय ने संगठन में सभी को उत्साहित किया है। पार्टी अध्यक्ष बने रहने का शरद पवार का फैसला मेरे सहित सभी एनसीपी कार्यकर्ताओं को उत्साहित करेगा और महा विकास अघाड़ी और विपक्षी एकता को ताकत देगा। बता दें कि शरद पवार द्वारा अपना फैसला वापस लेने के समय अजित पवार मौके पर मौजूद नहीं थे।

इससे पहले, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) प्रमुख शरद पवार के इस्तीफे की घोषणा के बाद मुंबई में पार्टी की कोर कमेटी की बैठक हुई थी। इसमें सुप्रिया सुले, अजित पवार समेत कई दिग्गज नेता शामिल हुए। इस दौरान शरद पवार के इस्तीफे की पेशकश को नामंजूर कर दिया गया। बताया जा रहा है कि एनसीपी की कोर कमेटी ने शरद पवार से पार्टी का नेतृत्व जारी रखने का अनुरोध करते हुए एक प्रस्ताव पारित किया है। पार्टी नेता प्रफुल्ल पटेल ने यह प्रस्ताव पेश किया था। इसके बाद समिति के सदस्यों ने शरद पवार से मुंबई में उनके आवास पर मुलाकात की।

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के उपाध्यक्ष प्रफुल्ल पटेल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए बैठक में हुए फैसलों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि शरद पवार ने 2 मई को अचानक अपने इस्तीफे की घोषणा कर दी। उनके फैसले से सभी हैरान थे। उन्होंने आगे की कार्रवाई के लिए और नए अध्यक्ष का चुनाव करने के लिए पार्टी नेताओं की एक समिति नियुक्त की। आज हमने समिति की बैठक की। इसमें हमने पवार साहेब से यह अनुरोध किया है कि वह अपना कार्यकाल पूरा करें।

उन्होंने कहा कि मैं और कई नेताओं ने पवार साहब से मुलाकात की और हमने उनसे लगातार अपने फैसले पर पुनर्विचार करने का अनुरोध किया, क्योंकि इस समय देश और पार्टी को उनकी जरूरत है। न केवल NCP नेताओं, बल्कि अन्य पार्टी के नेताओं और प्रतिष्ठित हस्तियों ने भी उनसे पार्टी प्रमुख बने रहने का अनुरोध किया।

उन्होंने कहा कि पवार साहब ने हमें बिना बताए फैसला ले लिया। पार्टी कार्यकर्ताओं और नेता की सभी मांगों पर विचार करते हुए हमने आज बैठक की और समिति ने सर्वसम्मति से एक प्रस्ताव पारित किया है. समिति सर्वसम्मति से इस इस्तीफे को खारिज करती है और हम उनसे पार्टी अध्यक्ष के पद पर बने रहने का अनुरोध करते हैं।

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.