• May 22, 2024

शिक्षा संस्थानों में छात्रों के नेटवर्क से खपाई जा रही थी देशी व विदेशी मादक पदार्थ की वस्तुएं।

 शिक्षा संस्थानों में छात्रों के नेटवर्क से खपाई जा रही थी देशी व विदेशी मादक पदार्थ की वस्तुएं।

नोएडा

शिक्षा संस्थानों में छात्रों के नेटवर्क से खपाई जा रही थी देशी व विदेशी मादक पदार्थ की वस्तुएं।

 

रिपोर्ट :- योगेश राणा

नोएडा: शिक्षा के क्षेत्र में उभरते गौतमबुधनगर को नशें के आगोश में सुलाते नशें के सौदागर। शहर के शिक्षा संस्थानों में तेजी से फ़ैल रहा है नशे का करोबार,नोएडा पुलिस ने एक ऐसे ही गैंग का खुलासा किया है जो छात्रों के नेटवर्क जरिए नशीले मादक पदार्थ की सप्लाई करवा रहे थे और इस मामले में पुलिस ने 4 छात्र सहित 9 लोगों को गिरफ्तार किया है। डीसीपी हरिश्चंद्र ने बताया कि कोतवाली-126 के द्वारा एक गैंग पकड़ा गया है ,पकड़े गए लोगों द्वारा छात्रों के जरिए स्कूल एवं कॉलेजों में नशीले मादक पदार्थ की सप्लाई करवाते थे जिसमें गैंग का सरगना अक्षय कुमार अपनी पत्नी के जरिए जोकि थाईलैंड में रहकर नौकरी करती है, उसके द्वारा ओजी नमक मादक पदार्थ की सप्लाई करता था और दूसरा व्यक्ति नरेंद्र राजस्थान से देसी गंजी की सप्लाई लाकर अमेठी यूनिवर्सिटी में एशियन लॉ कॉलेज में पढ़ने वाले छात्र को अपने जाल में फंसा कर गैंग के रूप में तैयार कर मादक पदार्थ की सप्लाई कॉलेज एवं पीजी में रहने वाले छात्रों को करवा रहे थे और इसमें मुख्य रूप से दर्शन, आदित्य व सुरेंद्र श्रीवास्तव के माध्यम से सप्लाई चेन को आगे बढ़ाया जा रहा था और साथ ही साथ मादक पदार्थ के डिलीवरी हेतु निजी राइडर तैयार किए जाते हैं जो डिमांड पर मादक पदार्थ की डिलीवरी करते थे जिसमें पुलिस ने तीन राइडर को गिरफ्तार किया है सागर अनीता वह अपूर्व सक्सेना को गिरफ्तार किया गया है। वहीं ड्रग्स आपूर्तिकर्ता के रूप में कैब चालक राजन कार्य कर रहा था उसने बताया कि वह इस ड्रग्स को नाइजीरियन मुल्क के नागरिकों से खरीद कर लाकर के अमेठी यूनिवर्सिटी के छात्रों को सप्लाई देता था और यह पूरा गैंग शिलांग गांजा, देशी उदयपुर गांजा व चरस ,कोकीन

,MDMA जैसे नशीले पदार्थों की बिक्री की जा रही थी ।

 

 

तस्करी के लिए सोशल मीडिया का भी जमकर हो रहा है दुरुपयोग!

 

हाईटेक छात्र स्नैपचैट, टेलीग्राम, व्हाट्सएप एवं इंस्टाग्राम का उपयोग तस्करी के लिए कर रहे हैं। आम तौर लोग इन सोशल मीडिया अप का इस्तेमाल अपने मनोरंजन के लिए ही किया करते थे पिछले कुछ समय में देखा गया है कि सोशल मीडिया का जमकर दुरुपयोग किया जा रहा है।

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.