• July 16, 2024

12वीं पास युवक ने दोस्तों के साथ मिलकर पूरे भारत में फैलाया ठगी का मायाजाल, क्रेडिट कार्ड का अमाउंट बढ़ाने के नाम पर हजारों लोगों को लगाया चूना

 12वीं पास युवक ने दोस्तों के साथ मिलकर पूरे भारत में फैलाया ठगी का मायाजाल, क्रेडिट कार्ड का अमाउंट बढ़ाने के नाम पर हजारों लोगों को लगाया चूना

नोएडा

*12वीं पास युवक ने दोस्तों के साथ मिलकर पूरे भारत में फैलाया ठगी का मायाजाल, क्रेडिट कार्ड का अमाउंट बढ़ाने के नाम पर हजारों लोगों को लगाया चूना*

रिपोर्ट:- योगेश राणा

 

नोएडा: साइबर टीम नोएडा व थाना सेक्टर 20 कोतवाली पुलिस को मिली बड़ी सफलता। क्रेडिट कार्ड का अमाउंट बढाने के नाम पर ठगी कर उसी अमाउन्ट से गोल्ड लोन खऱीदने के नाम पर दोबारा ठगी करने वाले अन्तर्राज्यीय गिरोह का पर्दाफाश किया है। गिरोह का पर्दा फास्ट करते हुए नोएडा पुलिस ने भुपेन्द्र,हिमांशु,ध्रुव रहलान,सचिन परिहार को गिरफ्तार किया है और गिरफ्तार अभियुक्तों कब्जे से कुल 02 लाख 12 हजार 400 रूपया नगद, 06 मोबाइल फोन बरामद किया है और 3 लाख रुपए की कीमत का गोल्ड फ्रीज कराया‌ गया है। इस पूरे मामले की जानकारी देते हुए नोएडा के डीसीपी हरिश्चंद्र ने बताया कि यह एक संगठित गिरोह है जिसका मुख्य सदस्य भूपेन्द्र है जो अपने साथियों के साथ मिलकर ऑनलाइन माध्यम से सोने की खरीदने का काम वर्ष 2018 से लगातार कर रहा था और यह शातिर गैंग द्वारा सर्वप्रथम मोबाइल फोन कॉल के द्वारा गोल्ड के आभूषण एवं सिक्कों को खरीदने हेतु वार्ता करते थे और इन शातिर अपराधियों द्वारा ज्वेलर्स से वार्ता करने के बाद खऱीदे गए सिक्कों एवं आभूषण की ऑनलाइन पेमेंट कर देते थे एवं दुकानदार को यह बताता है कि कल हमारा एक व्यक्ति आएगा आपको अपनी आईडी दिखाकर सिक्के एंव अभूषण की डिलीवरी ले लेगा और इसके बाद यह शातिर गैंग लोगों के साथ धोखाधडी कर यह बैंक से विवरण प्राप्त कर खाता धारक के क्रेडिट कार्ड लिमिट बढाने के नाम पर उससे ठगी करके और उस अमाउन्ट को ऑनलाईन होल्ड करा देते थे। ठीक उसी समय, होल्ड कराए गए अमाउन्ट से किसी अन्य ज्वैलरी शॉप पर कॉल करके उतने ही अमाउन्ट का गोल्ड कॉइन खरीद लेते थे और गोल्ड कॉइन लेने के लिए यह पोर्टल एप का इस्तेमाल करते थे इसमें एक साथ दो लोगों के साथ ठगी की जाती थी और इस गिरोह का कोई भी स्थाई ऑफिस नहीं था, यह देश के किसी भी क्षेत्र से अपने कार्य को अंजाम दिया करते थे ताकि इनकी लोकेशन ट्रेस ना की जा सके और ज्वैलर्स को रेजर-पे खाते (वॉलेट) का इस्तेमाल कर पेमेंट करते थे और यह गिरोह एक साथ मिलकर फोन के माध्यम से झारखंड एवं मध्य प्रदेश के सीमावर्ती जिलों में क्रेडिट कार्ड उपयोग कर रहे लोगों से प्वाईंट रिडीम करने के बहाने से लोगों से पैसों को सीधे ऑनलाईन शॉपिंग एप पर भुगतान करवाकर ऑनलाइन गोल्ड एवं इलेक्ट्रिक सामानों का क्रय करते थे और क्रय किए गए सामान को ओएलएक्स एवं गोल्ड की वस्तुओं को अन्य ऑनलाइन शॉपिंग एप के माध्यम से बेचा दिया करते थे और पकड़े गए ठगों को पूर्व में हैदराबाद के थाना सैबराबाद से पूर्व में जेल भेजा जा चुका है और इन सभी को एसीपी प्रथम राजेश वर्मा के नेतृत्व में नोएडा पुलिस ने दिल्ली से गिरफ्तार किया है और गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को डीसीपी नोएडा द्वारा उत्साह वर्धन हेतु 10,000/- रूपये की धनराशी से पुरस्कृत किया गया है।

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.