• April 18, 2024

Former IAS Amitabh Thakur accused the government, the bulldozer only works on the huts of the poor, it will not work on the usurers of Ballia.

 Former IAS Amitabh Thakur accused the government, the bulldozer only works on the huts of the poor, it will not work on the usurers of Ballia.

ब्रेकिंग बलिया

पूर्व IAS अमिताभ ठाकुर ने सरकार पर लगया आरोप, केवल गरीब के झोपड़ी पर बुलडोजर चलता है, बलिया के सूदखोरों पर नही चलेगा-

रिपोर्ट :- सत्येंद्र सिंह

 

ख़बर यू पी बलिया से है जहाँ अमिताभ ठाकुर ने कानपुर देहात में हुईं घटना को लेकर उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार पर निशाना साधा है । अमिताभ ठाकर ने कहा कि मौजूदा सरकार व उसके कारींदे कानून व्यवस्था के बजाय अपने विरोधियों व आलोचकों को लेकर ज्यादा चिंतित हैं ‌। उन्होंने कहा कि कानपुर देहात में उन दो महिलाओं के साथ इतना जघन्य कांड हुआ क्योंकि वो गरीब थे । सरकार के बुल्डोजर में यदि इतनी ताकत है तो वो बलिया के सूदखोरों पर चले गरीबों के आशियानों पर नहीं । उन्होंने कहा की कानपुर में गरीब का झोपड़ा उड़ने के लिए प्रशासन बुल्डोजर तो ले जाती है पर बलिया के सूदखोरों के समय सरकार का बुल्डोजर कहा गायब हो जाता । उन्होंने कहा कि ये घटना बताती है कि यहां कानून व्यस्था की क्या स्थिति है। उन्होंने कहा की अधिकर सेना कानपुर देहात प्रकरण में तत्कालीन जिला मजिस्ट्रेट पर मुकदमा दर्ज कराने व जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक के निलंबन की मांग करती है । अधिकार सेना की पांच सदस्यीय जांच टीम घटनास्थल पर पहुंची है और उनके अनुसार घटनास्थल पर हजारों पुलिस वालों को छावनी बनी हुईं है । उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस अधिकार सेना की जांच टीम को पीड़ितों से बातचित नहीं करने दे रही है । उन्होंने कहा कि बलिया के बाद वे स्वयं कानपुर देहात जाकर पीड़ितो का हाल जानेंगे ।

वहीं अमिताभ ठाकुर ने बलिया के शस्त्र व्यापारी नंदलाल गुप्ता द्वारा कथित तौर पर सूदखोरों से तंग आकर फेसबुक लाईव पर आत्महत्या करने के मामले में पुलिस की कार्यवाही को नाकाफी बताया है । उन्होंने कहा है कि नंदलाल गुप्ता प्रकरण में आरोपी सूदखोर भाजपा सरकार के शिर्ष पदों पर विराजमान लोगों के क़रीब हैं । उन्होंने आरोप लगाया है कि जिला प्रशासन ने प्रायोजित रूप से सूदखोरों की गिरफ्तारी की है व उन्हें वीआईपी ट्रीटमेंट देते हुए जेल पहुंचाया गया है । उन्होंने जिला प्रशासन पर सूदखोरों को जेल में भी वीआईपी देने का आरोप लगाते हुए बलिया जेल के भी औचक निरीक्षण की मांग की है ।

अमिताभ ठाकुर(पूर्व IAS)

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.