• June 15, 2024

कूट रचित दस्तावेजों के सहारे बैंकों सहित फाइनेंस कंपनियों को चूना लगाने वाले गिरोह का खुलासा!

 कूट रचित दस्तावेजों के सहारे बैंकों सहित फाइनेंस कंपनियों को चूना लगाने वाले गिरोह का खुलासा!

नोएडा

*कूट रचित दस्तावेजों के सहारे बैंकों सहित फाइनेंस कंपनियों को चूना लगाने वाले गिरोह का खुलासा!*

रिपोर्ट:- योगेश राणा

नोएडा। थाना सेक्टर 63 पुलिस ने फर्जी आधार व पेन कार्ड बनाकर सिविल खराब होने के बावजूद लोगों को लोन दिलाने वाले गिरोह के सात सदस्यों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इनके कब्जे से लैपटॉप, सीपीयू, वेब कैम कैमरा और फर्जी आधार कार्ड और पेन कार्ड बरामद किया है। पकड़े गए आरोपी एक ही व्यक्ति के कई-कई आधार कार्ड व पैन कार्ड बनाने का काम करते हैं। थाना प्रभारी अमित कुमार मान ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों की पहचान पहचान दीपक कुमार, विशाल, अतुल गुप्ता, मनीष कुमार, शिवेंद्र सिंह, मोहित कुमार और मोहम्मद चांद के रूप में हुई है। पकड़े गए आरोपियों ने पूछताछ करने पर बताया कि जिन लोगों को किसी भी प्रकार के लोन की आवश्यकता होती है और उनका किसी कारण से बैंकों में सिविल खराब होता है तो उनके नाम आदि में बदलाव कर पैरों की अगुलियों को स्कैन कर और किसी अन्य व्यक्ति के आंखों रेटीना लेकर हमसे मिला सिलिकोन का अंगूठा निशान का प्रयोग कर एक दूसरा आधार कार्ड तैयार करते हैं। जिससे वह किसी भी प्रकार का लोन सिविल स्कोर खराब होने के बाद लोन प्राप्त कर लेते थे। कार, मोटरसाइकिल और मोबाइल का लोन फर्जी नाम पते पर लेते थे। जिसकी एवज में आरोपित 10 से 20 हजार रुपए एक आधार कार्ड बनाने के वसूलते है और पैसा आपस काम के हिसाब से बांट लेते हैं। थाना प्रभारी ने बताया कि पकड़े गए आरोपी गौतमबुद्ध नगर, दिल्ली और गाजियाबाद के रहने वाले है और संगठित होकर अपना गिरोह चला रहे थे। पुलिस इनका आपराधिक रिकॉर्ड खंगाल रही है। साथ ही जिन लोगों को लोन दिलाया उनके सही पते और नाम भी तलाश कर रही है। वहीं हमारे सूत्रों की माने तो इस गिरोह में पकड़ा गया अभियुक्त मोहम्मद चांद उर्फ नवाब राशिद पूर्व में भी हवाला केस में दिल्ली से जेल जा चुका है‌ और हमें सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस गैंग में कई बैंक के कर्मचारी भी संलिप्त होने की संभावना है ‌बताई जा रही है।

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.