• May 29, 2024

“पश्चिम बंगाल की हालत यूक्रेन से भी खराब”, शुभेंदु अधिकारी ने ममता सरकार पर साधा निशाना

 “पश्चिम बंगाल की हालत यूक्रेन से भी खराब”, शुभेंदु अधिकारी ने ममता सरकार पर साधा निशाना

पश्चिम बंगाल में सोमवार को ‘अवैध पटाखों से जुड़ा’ एक और विस्फोट हुआ। केवल सात दिन के भीतर इस तरह का तीसरा विस्फोट हुआ है। बीरभूम जिले में कथित रूप से तृणमूल कांग्रेस के एक स्थानीय नेता के घर में हुए ताजा विस्फोट में हालांकि, किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। बंगाल में लगातार हो रहे विस्फोटों को लेकर पश्चिम बंगाल के नेता प्रतिपक्ष और भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी ने बंगाल की ममता सरकार पर निशाना साधा है। शुभेंदु अधिकारी ने कहा कि पश्चिम बंगाल की हालत यूक्रेन से भी खराब है।

“यूक्रेन में इतने धमाका नहीं हो रहे जितने…”

गौरतलब है कि 16 मई को पूर्वी मेदिनीपुर के एगरा इलाके में एक अवैध पटाखा कारखाने में हुए भीषण विस्फोट में 12 लोगों की मौत हो गई थी। उस विस्फोट के मुख्य आरोपी की 19 मई को ओडिशा के कटक के एक अस्पताल में मौत हो गई। घटना के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता शुभेंदु अधिकारी ने राज्य सरकार पर निशाना साधा और एगरा विस्फोट की तरह इस घटना की एनआईए जांच की मांग की। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि पुलिस ने छापेमारी के दौरान रात में सबूतों के साथ छेड़छाड़ की। कल शुभेंदु अधिकारी ने कहा कि पश्चिम बंगाल की हालत यूक्रेन से भी खराब हो चुकी है। उन्होंने कहा कि यूक्रेन में इतने धमाका नहीं हो रहे जितने कि बंगाल में हो रहे हैं।

 

 

अवैध कारखानों को लेकर सरकार की टूटी नींद
बता दें कि राज्य के दक्षिण 24 परगना जिले के बजबज इलाके में रविवार को अवैध पटाखा कारखाने में हुए विस्फोट में एक नाबालिग और दो महिलाओं की मौत हो गई और कई लोग झुलस गये। सभी मृतक एक ही परिवार के थे। राज्य सरकार ने अपराध जांच विभाग (सीआईडी) को इस घटना की जांच के आदेश दिए हैं। इस तरह के अवैध कारखानों पर रोक के लिए राज्य मंत्रिमंडल ने हरित आतिशबाजी उद्योग के लिए क्लस्टर स्थापित करने का फैसला किया है और मामले में जांच के लिए मुख्य सचिव एच के द्विवेदी की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया हैं। सरकार के एक वरिष्ठ मंत्री ने यहां यह जानकारी दी।

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.