• May 29, 2024

Noida Police issued helpline number to deal with cybercrime and illegal drug traffickers in Noida on the lines of One Stop Center*

 Noida Police issued helpline number to deal with cybercrime and illegal drug traffickers in Noida on the lines of One Stop Center*

नोएडा

वन स्टॉप सेंटर की तर्ज पर नोएडा में साइबर अपराध एवं अवैध मादक पदार्थ के तस्करों से निपटने के लिए नोएडा पुलिस ने जारी किया हेल्पलाइन नंबर

*अगर आप हुआ है साइबर फ्रॉड के शिकार तुरंत लगाएं इस हेल्पलाइन नंबर पर कॉल मगर यह सेवा केवलगौतमबुद्धनगर के लोगों के लिए लागू की गई है।*

 

Noida Cyber Fraud New Helpline Number: तेजी से आधुनिकता की ओर बढ़ते हुए डिजिटल लेन-देन के बढ़ते दौर के बीच में साइबर क्राइम (Cyber Crime) भी बढ़ता जा रहा है। ठग रोजाना नए-नए तरीकों से ऑनलाइन फ्रॉड (Online Fraud) को अंजाम दे रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ देश एवं उत्तर प्रदेश में अपनी आर्थिक नीतियों के लिए मशहूर जिला गौतमबुद्धनगर साइबर ठगों केन्द्र बिन्दु बन गया है लगातार बढ़तें साइबर फ्रॉड ने हाइटेक पुलिस को नई चुनौती पेश कर रहे हैं जिससे निपटने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे थे और इस से निपटने के लिए नोएडा पुलिस द्वारा प्रयास किए जा रहे थे मगर संसाधनों एवं अनिपुणता के कारण प्रभावी कार्रवाई नहीं हो पा रही है इस लिए इस चुनौती से निपटने के नोएडा पुलिस साइबर क्राइम पर अध्धयन कर रही थी और पुलिस आयुक्त लक्ष्मी सिंह के नेतृत्व में इन साइबर ठगों से निपटने के लिए विकल्पों की तलाश की जा रही थी पुलिस ने अध्धयन में पाया कि साइबर ठगी होने पर शुरुआती 24 घंटे अत्यधिक महत्वपूर्ण होते हैं जिस पर प्रभावी कार्रवाई ना होने की वजह से साइबर ठगों पर अंकुश नहीं लग पा रहा था क्योंकि इन से निपटने के लिए आधुनिक संसाधनों एवं निपुण अधिकारियों व कर्मचारियों की जरूरत थी जो कि विभाग के पास उपलब्ध नहीं थे। इन सभी समस्याओं को दूर करते हुए पुलिस आयुक्त लक्ष्मी सिंह ने साइबर फ्रॉड की गतिविधियों पर प्रभावी अंकुश लगाने व पीड़ित की शिकायत पर त्वरित कार्यवाही किये जाने के उद्देश्य से साइबर अपराध व मादक पदार्थों की बिक्री पर प्रभावी अंकुश लगाने के उद्देश्य से “साइबर हेल्पलाइन“ तथा “नार्कोटिक्स हेल्पलाइन“का उद्घाटन किया है और पुलिस आयुक्त लक्ष्मी सिंह ने नई व्यवस्था जानकारी देते हुए बताया कि नोएडा वासियों को साइबर अपराध की शिकायत दर्ज कराने के लिए थाने चौकी के धक्के नहीं खाने पड़ेंगे अब आपको केवल इस साइबर हेल्पलाइन 0120 4846100“ का इस्तेमाल करना और सही जानकारी उपलब्ध करानी है।

 

*साइबर फ्रॉड से जुड़े किन किन मामलों पर होगी शिकायत दर्ज?*

 

इन मामलों में होगी आपकी शिकायत दर्ज क्रमशः 1. फाइनेंन्सियल साइबर अपराध सम्बन्धी शिकायत जिसमें गलत तरीके से पैसे ट्रांसफर किये गये हो 2. नॉन फाइनेन्सियल साइबर अपराध सम्बन्धी शिकायते व 3. कम्पनी के मध्य ट्रांजक्शन सम्बन्धी अपराध की शिकायतों के रूप में वर्गीकरण किया गया है। और हेल्पलाइन नम्बर पर साइबर अपराध की जानकारी देते ही फ्रॉड करने वाले अपराधी का खाता तत्काल प्रभाव से सीज कर दिया जाएगा। केवल शिकायकर्ता को अकाउंट से आकस्मित पैसा ट्रांजेक्शन होने की स्थिति में पीड़ित को तुरन्त ही इस नम्बर पर अपराध से जुड़ी जानकारी देनी होगी, जिसके बाद हेल्पलाइन डेस्क पर बैठी टीम मामले को संज्ञान में लेते हुए अपराधी के खाते को तुरन्त बंद करा देगी। वहीं इसी के साथ समाज में तेजी से फैलता नशें का कारोबार ने भी पुलिस की चिताओं को बढ़ा दिया क्योंकि हाल ही के कुछ वर्षों में यह सामने आया है कि साइबर अपराध के साथ-साथ अवैध मादक पदार्थ की तस्करी भी नोएडा में तेजी से फैली है क्योंकि समाज में युवा पीढी नशे की लत के कारण दिशाविहीन हो रहे है तथा आपराधिक गतिविधियों में प्रवेश कर रहे है इसलिए अवैध मादक पदार्थ की तस्करी को रोकने के लिये पुलिस द्वारा लगातार कठोर कदम उठाये जा रहे है। इसी क्रम में मादक पदार्थो की तस्करी को पूर्णतः रोकने के लिये “नार्कोटिक्स हेल्पलाइन 01204846101“ की शुरूआत की गयी है जहां आप कभी भी किसी भी वक्त शिकायत दर्ज करा सकते हैं और शिकायकर्ता की जानकारी गोपनीय रखी जाएंगी वहीं पुलिस आयुक्त लक्ष्मी सिंह ने शहर वासियों का आव्हान किया कि अगर आप के आसपास या स्कूल/

कालेज,कम्पनियों के आसपास मादक पदार्थ की बिक्री होते दिखाई दे तो तुरंत हेल्पलाइन नंबर पर सूचित करें एवं

इस मौके पर अपर पुलिस आयुक्त कानून व्यवस्था श्री रवि शंकर छवि, अपर पुलिस आयुक्त मुख्यालय श्रीमती भारती सिंह, डीसीपी ट्रेफिक/स्टॉफ आफिसर श्री अनिल कुमार यादव, डीसीपी नोएडा जोन श्री हरीश्चन्द्र, डीसीपी ग्रेटर नोएडा साद मियां खान, डीसीपी महिला सुरक्षा डा0 मीनाक्षी कात्यायन, एडीसीपी नोएडा आशुतोष द्विवेदी तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित रहे।*

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.