• April 14, 2024

अपनी कार्यप्रणाली से लोगों का दिल जीतने वाले पुलिस अफसर का लखनऊ हुआ ट्रांसफर

 अपनी कार्यप्रणाली से लोगों का दिल जीतने वाले पुलिस अफसर का लखनऊ हुआ ट्रांसफर

नोएडा

*अपनी कार्यप्रणाली से लोगों का दिल जीतने वाले पुलिस अफसर का लखनऊ हुआ ट्रांसफर*

रिपोर्ट :- योगेश राणा

नोएडा: इस समय उत्तर प्रदेश शासन में तबादला का दौर चल रहा है छोटे से लेकर बड़े अफसरों का तबादला किया जा रहा है इसी क्रम में बीती रात उत्तर प्रदेश शासन ने 30 पीपीएस अधिकारियों हस्तांतरण किया है‌। इस सूची में नोएडा के सबसे तेज तर्रार एवं ईमानदार अधिकारी सहायक पुलिस आयुक्त प्रथम रजनीश वर्मा जी का भी नाम सामिल है उनका हस्तांतरण लखनऊ कमिश्नरी कर दिया है। मगर जैसे ही यह खबर नोएडा वासियों को लगी तो क्या खास क्या आम सभी लोगों ने सोशल मीडिया पर अपना अपना अनुभव साझा करना शुरू कर दिया और शुरू हो भी क्यों ना क्योंकि उन्होंने अपने मृदुल एवं सोमवार से नोएडा वासियों का हर बार दिल जीता है क्योंकि अक्सर देखा जाता है कि एक अधिकारी अपने सीमित दायरे में रहकर ही कार्यकर्ता नजर आता है मगर हम एसीपी रजनीश वर्मा कि बात करें तो लोगों की मदद करने के लिए अपने कार्य क्षेत्र से अलग हटकर भी लोगों की मदद करने में अव्वल रहे हैं और साथ ही साथ हम आपको यह भी बता दें कि एसीपी रजनीश वर्मा गौतमबुद्धनगर कमिश्नरी बनने से पूर्व से नोएडा में तैनात है कोरोना काल के समय रजनीश वर्मा ने नोएडा शहर में बेहतरीन कार्य किया था और इन्होंने अच्छे अधिकारी होने के साथ साथ एक अच्छे नागरिक होने के दायित्व का निर्वहन भी कुशलतापूर्वक किया गया

*अपराध एवं अपराधियों पर अंकुश लगाने के लिए निरन्तर किया प्रयास‌* एसीपी प्रथम रजनीश वर्मा ने सदैव अपराध एवं अपराधियों पर अंकुश लगाने के लिए कार्य करते नज़र आए हैं आप इस बात से अंदाजा लगा सकते हैं कि वह एक एसीपी होने होने के बावजूद प्रत्येक थाना क्षेत्र के छोटे से छोटे एवं बड़े से बड़े लोगों से उनके संबंध है दूसरी खूबी यह भी है कि उनकी सक्रियता का इस बात से अंदाजा लगा सकते हैं कि एक आम नागरिक का भी व्हाट्सएप जैसे सोशल ऐप पर तुरंत उत्तर देते हैं और एक दौर ऐसा भी आया था कि जब नोएडा विकास प्राधिकरण पर किसानों ने हल्ला बोल दिया था तो नोएडा विकास प्राधिकरण के अधिकारी नोएडा विकास प्राधिकरण छोड़कर भाग गए थे उस समय भी एसीपी रजनी शर्मा ने ही अपनी कार्यकुशलता से किसानों को शांत कराया और उनके उग्र प्रदर्शन को शांत करा दिया था और उनके मिलनसार व्यवहार का ही नतीजा है कि उनके हस्तांतरण होने के बाद नोएडा शहर में काफी पत्रकार एवं आम जनता से लेकर सामाजिक संगठन और आरडब्ल्यूए उनको कॉल करके बधाई दे रहे हैं और दूसरी तरफ उनके ट्रांसफर से दुखी भी हैं।

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.