• April 14, 2024

आज से एकांतवास में चले गए हैं बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर धीरेंद्र शास्त्री, बताई ये बड़ी वजह

 आज से एकांतवास में चले गए हैं बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर धीरेंद्र शास्त्री, बताई ये बड़ी वजह

छतरपुर: दक्षिण भारत में हिंदू राष्ट्र की अलख जगाने के बाद बागेश्वर धाम के प्रमुख धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री एकांतवास में चले गए हैं। धीरेंद्र शास्त्री अगले 5 दिन एकांत में रहकर सनातन धर्म पर किताब लिखेंगे। बाबा चाहते हैं कि उनकी ये किताब देश के सभी स्कूलों में पहुंचे जिससे बच्चों को सनातन धर्म के बारे में जानकारी मिले। मध्य प्रदेश के मंदसौर के खेजडिया में हनुमंत कथा मंच से बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने था कहा कि वे आगे कुछ दिनों तक एकांतवास पर रहेंगे। इस दौरान वे हिंदू धर्म पर किताब लिखेंगे। उन्होंने कहा कि यह किताब स्कूल और कॉलेज में मुफ्त बांटी जाएगी। धीरेंद्र शास्त्री ने कहा, ”लोग अक्सर यह सवाल उठते हैं कि हिंदू धर्म हैं क्या…? हाल ही में आई द केरला स्टोरी फिल्म में एक सवाल पूछा गया था कि सनातन धर्म क्या है। अब इसका जवाब देने के लिए ही हम एक पुस्तक लिख रहे हैं।”

बाबा ने हिंदू-मुस्लिम पर सियासत करने वालों को दिखाया आईना

इससे पहले हनुमान कथा के साथ बागेश्वर बाबा का दो दिवसीय मिशन साउथ पूरा हो गया। हालांकि इस दौरान भी कथा के साथ-साथ पंडित धीरेंद्र शास्त्री ने एक बार फिर हिंदू राष्ट्र और सनातन धर्म का ही झंडा बुलंद करने की जरूरत पर बात की। मंच से बाबा ने हिंदू-मुस्लिम पर सियासत करने वालों को बखूबी आईना दिखाया। साथ ही भक्तों को हिंदू राष्ट्र का मतलब भी समझाया। हिंदू, हिंदुत्व और हिंदू राष्ट्र की बात करने वाले बाबा बागेश्वर बेंगलुरु गए तो उनके भक्तों में अलग ही हर्षों-उल्लास देखने को मिला। पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने कुछ ऐसा माहौल बनाया कि अब भक्त सिर्फ हिंदू राष्ट्र की ही बात कर रहे हैं।

बाबा बागेश्वर की धूम..हिंदू और हिंदुत्व की गूंज
बेंगुलुरु में भी बाबा बागेश्वर अपने उसी चिर-परिचित अंदाज में दिखे। वही तेवर, वही संकल्प और वही नारा- हिंदू राष्ट्र हमारा। बाबा बागेश्वर ने हनुमंत कथा के दौरान हिंदू राष्ट्र की हुंकार भरी और एक बार फिर धर्मांतरण करने वालों को चेतावनी दी। उन्होंने कहा, सनातन को छोड़कर किसी में ताकत नहीं है जो हनुमान जी की शक्तियों का सामना कर सके। पंडित धीरेंद्र शास्त्री ने उन लोगों को भी जवाब दिया जो कि उन्हें किसी राजनीतिक दल से जुड़ा बताते हैं। उन्होंने कहा कि उनकी एक ही पार्टी है और वो पार्टी है बजरंग बली की। धीरेंद्र शास्त्री ने कहा कि उनका मकसद सिर्फ यही है कि पूरा भारत राममय हो जाए।

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.