• May 29, 2024

रोहिणी कोर्ट शूटआउट में जिगरी दोस्त की हत्या का आरोपी, पढ़ें इस गैंगस्टर की क्राइम कुंडली

 रोहिणी कोर्ट शूटआउट में जिगरी दोस्त की हत्या का आरोपी, पढ़ें इस गैंगस्टर की क्राइम कुंडली

दिल्ली की तिहाड़ जेल में गैंगवार हुआ है। गैंगवार में गैंगस्टर टिल्लू ताजपुरिया (33) की हत्या हुई है। टिल्लू की हत्या से दिल्ली पुलिस में हड़कंप मचा है। बताया जा रहा है कि जेल में दो गुटों में संघर्ष हुआ है। गैंगस्टर टिल्लू पर जानलेवा हमला हुआ। तिहाड़ जेल प्रशासन गैंगस्टर टिल्लू को दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल में लेकर पहुंचा। यहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।

जानकारी मिली है कि जेल नंबर आठ में बंद विरोधी गैंग के योगेश टुंडा नाम के कैदी ने लोहे की ग्रिल से जेल नम्बर नौ में बंद टिल्लू पर हमला किया। हमले में बुरी तरह जख्मी हो गया। ऐसा बताया जा रहा है कि गैंगस्टर जितेंद्र गोगी गैंग के सदस्य गैंगस्टर राजेश बवानिया, योगेश टुंडा, दीपक तीतर और रियाज खान ने टिल्लू पर जानलेवा हमला किया है।

आपको बता दें कि टिल्लू ताजपुरिया उर्फ सुनील मान पर अपने विरोधी गैंगस्टर जितेंद्र गोगी की हत्या समेत अन्य कई आपराधिक वारदातों को अंजाम देने का आरोप था। टिल्लू ताजपुरिया पहले दिल्ली की मंडोली जेल में बंद था, हालांकि जितेंद्र गोगी की हत्या के बाद उसे तिहाड़ जेल में शिफ्ट कर दिया गया था। जेल के अंदर से ही टिल्लू ताजपुरिया जरायम की दुनिया का काम संभालता था।

टिल्लू ताजपुरिया उर्फ सुनील मान दिल्ली यूनिवर्सिटी के श्रद्धानंद कॉलेज का स्टूडेंट था। कॉलेज में ही पढ़ने वाले जितेंद्र गोगी उसका जिगरी दोस्त था। लेकिन बाद में दोनों एक दूसरे के दुश्मन बन गए। जब गैंगस्टर नीरज बवानिया जेल गया तो टिल्लू और गोगी गैंग के बीच वर्चस्व की लड़ाई और भी बढ़ती चली गई।

कॉलेज में जिगरी दोस्त थे टिल्लू और गोगी

बताया जाता है कि टिल्लू और जितेंद्र गोगी कॉलेज में दोस्त थे। लेकिन कॉलेज चुनाव के दौरान दोनों के बीच दूरियां आ गईं। उनके बीच टकराव की स्थिति पैदा होने लगी। जिसके बाद वह एक दूसरे की जान के दुश्मन बन गए थे। दोनों गैंग के बीच कईं बार टकरवा हुआ। गैंगवार में अबतक दोनों गैंग के दर्जनों लोग जान गंवा चुके हैं।

जितेंद्र गोगी की हत्या में सामने आया था नाम
दिल्ली की रोहिणी कोर्ट में 24 सितंबर 2021 में बदमाशों ने दिल्ली के टॉप मोस्ट बदमाश जितेंद्र उर्फ गोगी की हत्या कर दी थी। इस मामले में सुनील उर्फ टिल्लू ताजपुरिया का नाम सामने आया था। रोहिणी कोर्ट संख्या 207 में जितेंद्र उर्फ गोगी के घुसते ही हमलावरों ने गोलियां बरसाई थी। पहली गोली उसकी पीठ पर मारी गई। गोली लगते ही उसने पीछे घूमकर हमलावरों की तरफ देखा तो फिर उसके सीने पर ताबड़तोड़ गोलियां मारी गईं।

गोलीबारी होते ही कोर्ट रूम में भगदड़ मच गई थी। जज व कर्मचारियों ने अपने कमरे में जाकर जान बचाई। वहां मौजूद अन्य वकील अहलमद के कमरे में घुस गए। गोली चलते ही गोगी के साथ अंदर गए कमांडो ने हमलावरों पर ताबड़तोड़ गोलियां चलाकर उन्हें ढेर कर दिया। ये बदमाश टिल्लू गैंग के सदस्य थे।

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.